रिलिजन डेस्क. आज के भागदौड़ वाले माहौल में नींद ना आना या नींद पूरी ना होना बड़ी समस्या है। स्ट्रेस या थकावट के कारण शरीर कमजोर हो जाता है और नींद की समस्या आ जाती है। ऐसे में डॉक्टर अक्सर नींद की गोलियां देते हैं। लेकिन, कुछ उपाय ऐसे हैं जो हमें सहज तरीके से ही सुकून की नींद दे सकते हैं। हमारे धर्म ग्रंथों में कुछ ऐसे मंत्र हैं जिन्हें बोल कर सोने से बेहतर नींद आती है और रात में नींद खुलती भी नहीं है।

हमारे शास्त्रों ने नींद को देवी का स्वरुप माना है। अच्छी हेल्थ के लिए नींद बहुत जरूरी है। अगर ये ना हो तो हेल्थ पर बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए हमारे शास्त्रों ने नींद को देवी ही माना है क्योंकि ये बेहतर जीवन के लिए बहुत जरूरी है। नींद को देवी दुर्गा का ही एक रुप माना गया है, क्योंकि नींद भी हमें शक्ति प्रदान करती है। अगर सोने से पहले 3, 5, 7 या 11 बार देवी दुर्गा के एक मंत्र का जाप किया जाए तो धीरे-धीरे नींद की समस्या खत्म हो सकती है।

ये है मंत्र…

या देवि सर्वभूतेषु निद्रारुपेण संस्थिता।

नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमस्तस्ये नमो नमः।।

अर्थ – हे देवी आप निद्रा के रुप में हर जगह व्याप्त हो, मैं आपको आपकी शक्ति को बार-बार नमस्कार करता हूं।

ऐसे करें मंत्र का जाप

1 – रात को सोने से आधा घंटा पहले मोबाइल और टीवी से दूर हो जाएं।

2 – ठंडे पानी से हाथ-मुंह धो लें।

3 – सोने से पहले बिस्तर साफ कर लें। साफ और हल्के कपड़े पहनें।

4 – बिस्तर पर पद्मासन की स्थिति (पालथी लगाकर) बैठ जाएं।

5 – आंखें बंद करके देवी क ध्यान करें और हाथ जोड़कर मंत्र का मन में जाप करें।

6 – जाप होने के बाद बिस्तर पर आंखें बंद करके लेट जाएं।

इस उपाय से धीरे-धीरे आपकी नींद ना आने की समस्या पूरी तरह खत्म हो जाएगी।

This content was originally published here.

SHARE